JNU में मतगणना के दौरान हुआ बवाल, चुनाव समिति ने लगाया आरोप


नई दिल्ली। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में छात्रसंघ चुनाव में तनाव पैदा हो गया है। शुक्रवार को  हुए मतदान के बाद रात में ही मतों की गिनती शुरू कर दी गई। लेकिन कुछ ही देर बाद इसे रोकना पड़ा। दरअसल, मतगणना के दौरान चुनाव में खड़े एक दल के प्रत्याशियों पर मारपीट का आरोप लगा है। चुनाव समिति ने आरोप लगाया है कि अध्यक्ष और संयुक्त सचिव पद के प्रत्याशी ने चुनाव समिति के साथ मारपीट की। इतना ही नहीं उन्होंने चुनाव समिति की महिला सदस्यों के साथ भी मारपीट की गई है। यहां तक कि दरवाजे भी तोड़े गए।

चुनाव मैदान में उतरे वाम संगठनों ने आरोप लगाया है कि देर रात एबीवीपी के उम्मीदवारों और कार्यकर्ताओं ने यह उत्पात मचाया है। देर रात सभी काउंसलर पदों में हार की सूचना से बौखलाए एबीवीपी समर्थकों ने मारपीट और तोडफोड़ की है। फिलहाल एबीबीपी ने इस बारे में अभी तक कोई टिप्पणी नही दी है।आरोप है कि जेएनयू छात्र संघ चुनाव समिति की तरफ से मतगणना के पहले राउंड की काउंटिंग जो साइंस स्कूल और अन्य स्पेशल सेन्टर में शुरू हुई थी। उसके शुरू होने के समय एबीवीपी के काउंटिंग एजेंट को बुलाए बिना चुनाव समिति के सदस्यों ने लेफ्ट के कार्यकर्ताओं के साथ काउंटिंग शुरू कर दी। चुनाव समिति के मेंबर्स और लेफ्ट दोनों मिलकर साजिश और धांधली कर रहे है। ऐसा चुनाव का हम नहीं मानते हैं। हमें काउंटिंग में नहीं बुलाया जा रहा है।

इससे पहले जेएनयू छात्र संघ चुनाव के लिए शुक्रवार सुबह 10 बजे से शाम 5.30 बजे तक वोट डाले गए। बीते वर्षों की तुलना में इस साल छात्रसंघ चुनाव में रिकॉर्ड तोड़ मतदान हुआ। 68 फीसदी  विद्यार्थियों ने मतदान दिया। 8700 छात्रों से 7650 ने मतदान में हिस्सा लिया।मुख्य चुनाव अधिकारी हिमांशु कुलश्रेष्ठ ने कहा कि 2012 में सुप्रीम कोर्ट की लिंगदोह समिति की सिफारिशों को जेएनयू में लागू किया गया था। उसके बाद समिति की सिफारिशों के अनुरूप चुनाव होते रहे। बीते सात वर्षों में कभी भी 60 फीसदी  वोट नहीं डाले गए, जबकि इस बार 68 फीसदी  मतदान हुआ।

JNU में मतगणना के दौरान हुआ बवाल, चुनाव समिति ने लगाया आरोप JNU में मतगणना के दौरान हुआ बवाल, चुनाव समिति ने लगाया आरोप Reviewed by डिस्कवरी टाइम्स on 9/15/2018 04:10:00 pm Rating: 5
Blogger द्वारा संचालित.